Monday, March 2, 2009

हिन्दू मन खुश क्यों है?

लोग मुझ से पूछते है क्या नहीं है तुम्हरे पास और तुम रोते रहेते हो. हा यका यक मुझे याद दिलाया गया क्या नहीं है तुम्हारे पास इस हिंदुस्तान मैं नाहक ही तुम हिन्दुओ को भड़काते रहेते हो. सभी कुछ तो है तुम्हरे पास । हा ठीक भी तो है सब कुछ तो है मेरे पास।
  1. जैसे -पूरे हिंदुस्तान के झंडे में ३३% तो मेरा है। शुक्र है केसरिया तो मुझे मिला। वो भी क्यों मिला क्योंकि जो स्वतंत्रता के बाद बचा खुचा देश जो मिला उस में केसरिया भी त्याग का ही प्रतिक था यदि कही कुछ और लेना का होता तो मेरा पंडित (ढोंग) नेहेरू चाचा मुझे ये अधिकार भी न देते।
  2. देश का पहेला प्रधान मंत्री पंडित था। तो हिन्दुओ को गर्व होना चाहिय देखो एक पंडित को देश का प्रधान मंत्री बनाया था वो पंडित के बिलकुल उलट था । हिन्दू खुश क्योंकि पंडित प्रधान मंत्री।करोड़ लोग पाकिस्तान बांग्लादेश से माँ बहिन घर, बार लूटा के आये। पंडित ने सहारा दिया। हिन्दू खुश। हिन्दुओ के अदम्य अहिंसक महान नेता महात्मा गाँधी के हत्यारे आर अस अस को कातिल घोषित कर प्रतिबंदित किया।
  3. गोडसे को फँसी चडाया। हिंदो खुश। नहीं मालूम की बटवारे के समय इसी आर अस अस ने बचाया था। परन्तु शांती के लिया हिन्दू फिर से खुश।
  4. हिन्दू खुश काशी, अयोध्या, मथुरा, हिंगलाज, कैलाश, गई तो गई वश्नो देवी, तिरुपति, हरिद्वार, द्वारिका, रामेश्वरम तो है ही।
  5. हिन्दू खुश चाहे नाम की ही सही हिंदी तो भारत मैं है ही। चाहे बोली जाती हो कुछ ही स्टेट मैं। वो भी मुह बिचका के.
  6. धोती, साडी तो पहन सकते है। शर्मा शर्मा के. हिन्दू इसी से खुश है.
  7. कावाड ले जाते है। बीच बीच मैं मुस्लमान तंग करते है. वश्नो देवी की ज्योति लेजाते है. मुसलमान ऊपर से पानी डाल देते है. ज्योत बुझ जाती है. हिन्दू मांग करते है की दंगा करने वालो को पकडो. सरकार दोनों तरफ से कुछ आदमियों को पकड़ कर रिमांड मैं लेलेती है. हिन्दू खुश है चलो सरकार ने कदम तो उठाया.
  8. जिस बात के लिया देश का बटवारा हुआ। पूरे दो देश देये इस आफत के लिया. फिर से उनी ही को आरक्षण. हिन्दू खुश है चलो कोई बात नहीं सिर्फ पञ्च प्रतिशत ही तो है.
  9. राष्ट्रपति या उपराष्ट्रपति का तो कम से कम एक मुस्लिम के लिया अरक्षित हो ही गया। बिचारा हिन्दू खुश हे चलो प्रधान मंत्री तो हिन्दू ही है.
  10. कश्मीर सारा चला गया. हिन्दू खुश है चलो जम्मू के लोगो ने अमरनाथ के लिया बवाल करके कश्मीर बचालिया. पर उन्होनो किया तभी जब अंत आगया. बचारा हिंदुस्तान का हिन्दू चुप चाप था जब जम्मू जल रहा था. कोई प्रदर्शन पूरे हिंदुस्तान मैं जम्मू के लिया हुआ? बल्कि अपने ही हिन्दुओ ने पानी पि पि कर आर अस अस, बीजेपी को कोसा की क्यों एक दिन का बंद जम्मू के समर्थन मैं इन लोगो ने किया। चाहे फिलिस्तीन के लिया जो हजारो कोस हम से दूर है हमारा उनसे मतलब भी कोई नहीं। परन्तु हिंदुस्तान के मुलाल्मानो ने देश सर पर उठालिया प्रधार्शन लखनऊ मैं कर कर. कार्टून बना हॉलैंड मैं इनाम पचास करोड़ का रख दिया हिंदुस्तान मैं. हिन्दू बचारा खुश है की जम्मू वालो ने कश्मीर बचालिया.
  11. हिन्दू खुश हैं बचारे नेपालियो की अक्ल आगई की अब वो भी हिंदुस्तान के हिन्दुओ की तरह सेकुलर बन कर नेपाल का भला करेंगे। हिन्दू खुश है नेपाल मैं भारतीय पुर्होहित पशुपति नाथ मैं बदल गया. चलो हमें कोई फरक नहीं पड़ा. हमारा तो तिरुपति मैं इसाई रेड्डी सहभ ने एक ही इसाई ट्रस्ट मैं बठाया है. हिन्दू खुश है चलो एक ही तो बठाया है.
  12. हिन्दू खुश है चलो गोधरा मैं ६० ही तो मरे थे बाकि तो बच गए। शुक्र मनाओ के बाकि बच गए।
  13. हिंदू खुश हे अपनी दुर्गति देख कर। देखा आतंकवादी आये थे मुंबई मैं सिर्फ ६० एक लोग ही मरे है। देश की सेकुलर सरकार ने बीजेपी की तरह बव्कूफी नहीं की दिल्ली से ही पाकिस्तान को डरा दिया। हिन्दू खुश है अपनी इसी बहादुरी पर।
  14. हिन्दू खुश है अपनी अमीरी पर, गरूर है अपने देश पर. वहा श्री लंका मैं हिन्दू तमिल चुन चुन के मारे जा रहे है. और हम नापुंसको की तरह सेकुलर होकर अपनी नपुंसकता छुपा रहे है की येहे तो उनका अंदरूनी मामला है. जब यह उनका अंदरूनी मामला है तब इन्ही के प्रधानमंत्री ने वहा अपना सिर क्यों दिय था। हम बड़े मानवाधिकारो के प्रवक्ता बने फिरते है हमारे प्रधान मंत्री ने अपनी बीमारी मैं भी इसरेअल के खिलाफ फतवा देदिया की फिलिस्तीन के खिलाफ मानव अधिकारों का हनन हो रहा है। तो यहाँ लंका मैं की पशुओ के अधिकारों का हनन हो रहा है. अरे कुछ नहीं कर सकते बचारो को बचा कर हिंदुस्तान मैं शरण ही देदो. इतनी नपुंसकता का क्या करो गे. मलयेशिया की तरह इनका भी बेडा गरक करोगे.
  15. हिंदू खुश है की मुस्लमान लड़के हिन्दू लड़किया ही तो भगा कर निकहा कर रहे है। हिन्दू लड़के तो सुरक्षित है।
  16. हिंदू खुश है की बटवारे मैं बचे कुचे हिंदुस्तान मैं सिर्फ पञ्च ही तो इसाई और एक मुस्लिम मुख्मंत्री है।हिन्दू खुश हे हज्ज पर सब्सिडी देकर अब तक शांति खरीदी थी अब आरक्षण देकर १० -२० साल के लिया फिर खरीद लेंगे। फिर का फिर देखा जायगा। नहीं तो फिर एक भारत माता का छोटा सा टुकडा देकर शांति खरीद लेंगे।
  17. आतंकवादी हिन्दुओ को ही मार रहे है। जो मुकाबला कर रहे है वो भी हिन्दू ही है (मोहन चंद शर्मा) फिर भी अजमगड़ के लोग दिल्ली लखनऊ मैं रेल चला चला कर अकड़ रहे है। हिन्दू खुश हैं की चल बाकि देश तो शांत है.
  18. हिन्दू खुश है की एक हिन्दू परिवार अधिनियम भी संविधान मैं है न होता तो क्या होता। हिन्दू खुश हैं चलो पंडित जी ने इतना तो ध्यान रक्खा।
  19. हिन्दू खुश है की बचारे मुसलमान कितने दयालु हैं की काशी, अयोध्या और मथुरा मैं मस्जिद होने के बावजूद हम हिन्दुओ को वहा पर जाने दिया जाता है। बाबरी ढांचे के बाद १००० मंदिर पूरे संसार मैं टूटे थे। हिन्दू खुश है यार बाकि तो बच गए न।
  20. हिंदू खुश है की स्लम दोग को अवार्ड मिला बचारा सुखविंदर गाना गा कर भी हिंदुस्तान मैं धक्के खा रहा है चलो रहमान जी को तो अवार्ड मिला।
  21. हिंदुस्तान के लोगो ने जोधा अकबर पिक्चर पूरी तरह नकार दी थी। परन्तु बस यही नहीं हुई अब उसे सारे फिलम फेयर अवार्ड देदिया गए। हिन्दू खुश है चलो हिन्दू ऐक्टर र्हितिक को तो अवार्ड मिला न।
  22. हिन्दू बेचारा खुश है कोई बात नहीं मुस्लमान वन्दे मातरम, सरस्वती वंदना नहीं गाते कल को जन गण मन भी नहीं गयांगे परन्तु हमें तो गाने दे रहे है।
  23. कश्मीर मैं भारत माता का नारा नहीं लगा सकते। मुसलमान पत्थर फेकते है। हिन्दू खुश हैं चलो बाकि हिंदुस्तान मैं तो लगा सकते हैं। वहा तो बचारे मुस्लमान भाई मना नहीं करते। इनकी भावनाओ का ख्याल रक्खो आखिर सेकुलर का तमगा नहीं चाहिय।

भाई मैं बहुत खुश हूँ की मुझे मेरे मुस्लमान भाई हिंदुस्तान के एक छोटे से शहर मैं शांति से साँस लेने दे रहे है। यदि नहीं लेने देंगे तो मुझे गुस्सा आजयागा. फिर मैं क्या करूँगा. पता नहीं आपको मेरा गुस्सा बहुत खतरनाक है गुस्से मैं, मैं कुछ भी कर सकता हु।

मैं मैं गुस्से मैं शहर छोड़ दूंगा.

4 comments:

  1. पीड़ा है मगर शहर छोड़ना तो समाधान नहीं.

    ReplyDelete
  2. हिंदी ब्लॉग जगत में आपका स्वागत है। आशा है आपके बहुमूल्य विचारों से हम लाभान्वित होंगे।

    वर्ड वेरिफिकेशन हटा लेने से टिप्पणी देने वाले को असुविधा नहीं होगी

    ReplyDelete
  3. ब्लाग संसार में आपका स्वागत है। लेखन में निरंतरता बनाये रखकर हिन्दी भाषा के विकास में अपना योगदान दें।
    रचनात्मक ब्लाग शब्दकार को रचना प्रेषित कर सहयोग करें।
    रायटोक्रेट कुमारेन्द्र

    ReplyDelete