Saturday, June 5, 2010

मीडिया में इस खबर पर चर्चा क्यूँ नहीं है???????

सलेक्टिव मीडिया और उसके सरकारी गिरहो ने हिन्दुस्थान के हिन्दुओ को मुर्ख बनाने के लिए कोई कसर छोड़ ही नहीं रखी है. पता नहीं मीडिया में बैठे भेडिया क्यों इतने बड़ी खबरों को छुपा लेते है.
आज कोई अखबार, टीवी, मैगज़ीन बात नहीं करती की गोधरा क्यों हुआ. उसके होने पर एक लल्लू को रेल मंत्री ही बना दिया गया. अफज़ल को फांसी क्यों नहीं की खबर क्यों नहीं , कसाब की हंसी और किसी भारतीय लड़की से शादी के ही खबर ही क्यों. संसद भवन को बचाने वाले रक्षको की कांग्रेस सरकार के मुहं पर मेडल मार देने वाले बेबस परिवार वालो की व्यथा क्यों नहीं, क्यों इन पर परिचर्चा नहीं.
क्यों सिल्कटीवली प्रज्ञा और बजरंग दल पर ही परिचर्चा और लाल लंगुरो लेफ्टिस्ट के ही लेख क्यों.
क्यों कंधार विमान अपहरण करने वाले आतंकवादी द्वारा हत्या करने वाले आतंकवादी द्वारा उस भारतीय की हिन्दू धरमपत्नी को एक शाल भेंट करने वाली खबर को हिंदुस्थानी मीडिया में चलाने जैसी, शर्म से डूब मरने वाली खबर चलाई गई. और हम बेशर्मी से इन खबरों को पढ़ कर अपने विचारो को कुंद कर रहे है.
हमे मीडिया हर रोज कोई न कोई अफीम की गोली दे रहा है. ५ जून २०१० को २५ पाकिस्तानी आतंकवादी वाघा बोर्डर से छोड़ दिए गए और हम अपनी अपनी पेंट को पकडे हाज्जत के जोर भी नहीं दिखा पाए. खबर यहाँ देखे
हमे डूब मरना चाहिए की हमे मीडिया विशेष तौर पर टीवी मीडिया आइ पी एल के ललित मोदी में ही उलझाए फिर रही है.
जागो भाई जागो, बीजेपी जी के श्री रवि शंकर प्रशाद से भी अनुरोध करूँगा सरकार से जवाब क्यों नहीं माँगा गया. उन बहादुर सिपाहियों का क्या जिन्होंने अपने बलिदान देकर इन पाकिस्तानी अतंकवादियो को पकड़ा था. और आज मुस्कराते और हाथ हिलाते देश को टा टा कर रहे है जैसे कोई मेडल जीत कर ले जा रहे है. फोटो यहं देखे - http://www.masala.com/images/tmp/full/srkfanjail_full.jpg
ध्यान दो दोस्तों, देश को बधिया किया जा रहा है. कमसे कम उन्नीकृष्णन के बूढ़े पिता से ही थोड़ी पौरुश्ता लेलो जिस ने केरल के मुख्यमंत्री को एक भारतीय की ताकत दिखा दी थी और उसके सामने एक प्रदेश का मुखमंत्री बिलबिला कर रख दिया था.
और इन २५ अतंकवादियो पर पुरे १२० करोड़ लोगो के देश में किसी को भी बिलबिलाने नहीं दिया गया. यह देश के खून को पानी बनाने के एक बहुत बड़ी साजिश है!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!.
जय भारत जय भारती.

5 comments:

  1. त्यागी जी, कश्मीर में एक आतंकवादी मार दिया जाता है तो पूरी बटालियन पर हत्या का मामला दर्ज कर दिया जाता है तो ऐसे में
    कौन सिपाही इन हरामजादों को मारेगा?
    जिस दिन इन सफेद खादी की वर्दी वालों और इनके परिवारों का
    नम्बर लगेगा उस दिन इन्हें समझ में आयेगा..

    ReplyDelete
  2. सादर वन्दे !
    आपने सही कहा | आम जनता तो कुछ कर नहीं पा रही, भगवान करें ये देश सपूत जाग जाएँ, फिर तो ..................
    जय हिंद
    रत्नेश त्रिपाठी

    ReplyDelete
  3. Hello Blogger Friend,

    Your excellent post has been back-linked in
    http://hinduonline.blogspot.com/

    - a blog for Daily Posts, News, Views Compilation by a Common Hindu
    - Hindu Online.

    ReplyDelete
  4. नमस्कार तयागि जी आप के सब आर्टिकल मै पड्ता हु मुझे मै आप से ये पुछना साहता हु हम हिन्दु एक क्यो नहि है हम टुकडो मै क्यो है मुसल्मान सब एक है कुस दिन पेहले मेरे यहा एक मस्झिद मै 2 रीक्शा वालो का झगडा हो ग्या ओर वो झगते झगते एक मस्झिद मै चले गये मस्झिद कुस टुट्फुत गया वो लोग झगड रहे थे उन्को मलुम नही था कि वो मस्झिद घुस गये है फिर लोग ने उन्को अलग किया दुसरे दिन सारे शेहर के मुसल्मान एक जगह पे ईखटा हो गये ओर ओर दनगा चालु हो गया दन्गे का मकसद हमारा मस्झिद तोडा सब लोग ईखटा गो के दुकान को पत्थर मरने लगे ये तो अछा है कि यह का पुलिस कमिसनर कोई पनजाबि थे ओर नरेन्द्र मोदि जी कि सरकार कि वजह से तुरन्त कारवाई की ओर उन सब को पुलिस ने मार मार के भगा दिया वरना क्या होता? मै आप से ये जानना साहता हु हम हिन्दु एक क्यो नही है आज अगर हमारा कोइ मन्दिर तोड्ता है सायद एक भि मेरा हिन्दु भाई उस रोकने की हिमत नही करेगा आपने देखा होगा की जब कोई भी जब मुसल्मान की बस्ति से कोई वाहन लेके जाता हौ ओर अन जाने मै भी अगर कीसी से लग जाये तो सब लोग मरने के लिये इखटे हो जाते है उनके एरीये मै से आना जाना ऎसा लगता है तालिबान से गुजर रहे है हम हिन्दु ऎसे नहि है हमारे ऎरिये मै अगर कोइ बहार के कुस लोग झगडा करने तो हम अपने पडोसी कि भी मदद नहि करने जाते मुझे इस बात कि चिन्ता है की अनेवाले हमरे बच्छो का भविश्य क्या होगा

    ReplyDelete