Saturday, January 14, 2012

देखी मुसलमानों की हेकड़ी ??????????

भाई हिन्दू कायर कौम यह तो होता ही रहेगा. जब बेगेरेत बने रहोगे तो यह बाबा राम देव तो क्या चीज है यहाँ तो श्री राम देव (भगवान् श्री राम) को ही मुसलमानों ने नापने की कोई कसर नहीं छोड़ी.
  • भारत माता को किसी हिन्दू ने डायन नहीं कहा एक मुसलमान ने ही कहा और इसी हिन्दुस्तान की धरती पर.
  • हिन्दू देवी देवताओ की नंगी तस्वीरे किसी हिन्दू ने नहीं बनाई एक मुस्लमान ने यहीं हिंदुस्तान में ही बनाई.
  • हिन्दू लडकियो को मुस्लमान लड़के यहीं निकाह के नाम पर रेप इसी हिन्दुस्तान की धरती पर कर रहे है.
  • एक पकिस्तान और एक बंगलादेश लेने के बाद आरक्षण भी इसी हिंदुस्तान की धरती पर ले रहे है.
  • राम मंदिर, बाबा विश्वनाथ मंदिर, कृष्ण जन्मस्थल मंदिर इस हिन्दुस्तान की धरती पर ही नहीं बनाने दे रहे.
  • पुरे विश्व को नफरत की फसल यहीं हिन्दुस्तान की धरती देवबंद से बोई जा रही है.
  • भारतीय सेना को "गो बैक" इसी हिन्दुस्तान की धरती पर कहा जा रहा है और हिन्दू नहीं मुसलमान ही कह रहे है.
  • इसी हिंदुस्तान की धरती पर पाकिस्तानी मुसलिम कलाकारों का खैरमकदम होता है.
  • इसी हिन्दुस्तान की धरती पर मुसलमान ही फ़तवा जारी कर सकते है, बाकि विश्व के मुसलमानों की अब औकात नहीं रह गई है.
  • इसी हिन्दुतान की धरती पर मुसलमान भारतीय संस्कृति "सूर्य नमस्कार" पर भी प्रतिबंध लगा सकते है.
  • इसी आजाद हिन्दुस्तान की धरती पर परम पुजनिये हिन्दू संत शिरोमणि बाबा राम देव पर एक मुसलमान कालक पोत सकता है.
वहा भाई वहा हिन्दुस्तान के  मुसलमानों जवाब नहीं आपका. आज तो आपकी जमकर तारीफ करने दो, वाकई जवाब नहीं हिन्दुओ को हिन्दुओ के ही देश में उनकी औकात बताने के लिए. यार होना भी चाहिए इन हिन्दुओ को बुद्धि ही नहीं की दूध किसे पिलाना चाहिए और किसे नहीं, रोटी किसको डालनी चाहिए और किसे नहीं. पर कसूर तो इनका भी नहीं असल में कायरता इतनी डीएनऐ में अन्दर तक घुसी हुई है की जब तक पडोसी पिट रहा है तब तक बीवी के पल्लू में घुसे रहेंगे और जब अपना नंबर आ जायेगा तो बीवी बच्चे समेत घर छोड़ कर भाग जायेंगे.
अरे कौन बाबा राम देव और किसका देव, अरे छोड़ो यार धंधा करता है धंधा. अरे व्यापारी है व्यापारी यार. छोड़ो हमें क्या लेना यार ऐसे ढोंगी बाबा से. वहा देखा क्या अच्छा तर्क है स्वयम को मूर्खो के स्वर्ग में रखने का. अरे हिन्दू बंधुओ जब तुमने सिखों की सिखी का भी सरदारों पर बारह बजने पर मजाक उड़ा दिया तो कौन तुम्हे बचने आयेगा. और यहाँ तो बेचारा एक बाबा है जो सर्वशक्तिमान महारानी के चक्रवर्ती साम्राज्य से लड़ रहा है. फिर उसके मुहं पर कालक पोतो या उसे गधे पर बिठाओ क्या फर्क पड़ता है. जब कला के नाम पर अपने देवी देवता को ही नंगा करने देते हो तो कल घर की बहु बेटियो को भी खुजराओ की संस्कृति के लिए नंगा कर दे तो कोई बड़ी बात नहीं. बड़ी बात है की आने वाली पीढ़ी को अपनी नपुंसकता की दासताएँ लिख कर देना. दुनिया में कोई भी समाज इतना कायर, डरपोक और नपुंसक नहीं जीतन की आज हिन्दुस्तान में हिन्दू है. किसी भी  बात से कोई फर्क नहीं पड़ता बस फर्क पड़ता है तो कोई रिक्शा वाला २ रूपये की जगह ५ न मांगले, दिवाली पर पडोसी से कम पटाखे न आजाये. घर में शादी पर कोई भी टटपूंजिया टाइप का नेता आना रह न जाये. कोई कबाड़ी अखबार की रद्दी कम न तोलले बस यहीं तक इसका बेचारे का समाज और दुनिया है.
 
बीजेपी ने बाबुराम कुशवाह को क्या लेलिया बस ऐसा लगा की हिन्दू संस्कृति पर ही विपदा आगई  . एक से एक प्रवचनकर्ता इस अंदाज में प्रवचन कर रहा है जैसे की उसका जन्म ही बीजेपी के कुशवाह को लेने की आलोचना के लिए हुआ है. बड़े बड़े अध्यात्मिक केंद्र इस बात पर बीजेपी को प्रवचन कर रहे है जैसे की सतयुग में राक्षश ने जन्म  लेलिया. अरे यार यह जो ४.५% आरक्षण दिया है यह क्या सोनिया गाँधी ने अपने घर में से दिया है. पिछडो का हक़ दिया है. हम हिन्दुओ ने ठेका थोड़े ही ले रखा है आरक्षण देने का. यह तो अपने में से एक हिस्सा है उन हिन्दुओ को जिनको यह लगता है की विगत में वो थोडा पिछड़ गए थे बस. बाकि सब तो राजनीती है अब राम बिलास पासवान, लल्लू और मायावती के लिए थोढ़ा ही कोई आरक्षण है जिनके lकुत्ते खा खा उलटी करते है और देश के ब्राहमण दिल्ली और मुम्बई के मॉल और पि वि आर में टट्टिया साफ़ कर रहे और पोचे लगा रहे है . और मुसलमानों को आरक्षण, इसका मतलब यह थोडा ही नहीं है की देश को धर्म के नाम पर एक और देश का हिस्सा दे देंगे.
जो लोग अलाप्संख्यको को आरक्षण की बात करते है उनके खुद के अकाउंट और बच्चे विदेश में है. बटवारा हिन्दुस्तान
का होता है तो उनपर घंटा असर पड़ेगा. दलितों को आरक्षण जारी रखना आज भी समझ में आता है परन्तु एक खुली अर्थव्यवस्था में मुसलमान हिन्दुस्तान में हर क्षेत्र में उचाइओ पर है बोलीवुड में खान, सैफ, केटरीना है. संगीत में यह ही है, कला में यह ही है, राजनीती में यह ही है. और फिर भी आरक्षण चाहिए अरे जिस दिन हिन्दू दलित इन उचाइयो  पर पहुच जायेगा  उस दिन इस आरक्षण को लात मार देगा. जिस दिन बोलीवुड का सुपर स्टार कोई दलित बन जायेगा तब उनको भी आरक्षण की जरुरत होगी और तब तक नहीं, तब तक आरक्षण जारी रहना चाहिए.परन्तु यहाँ तो अह्सहांफरामोशी की हद ही हो गई, हर चीज मांग ही रहे है. देश मांगे, मंदिर तोड़ मस्जिदे मांगी, और अभी मांग ही मांग रहे है पता नहीं एक बार सुरसा का तो पेट भर सकते है पर इनका कब भरेगा.
 
भैया इसी तरह चलता रहा तो हिन्दुओ एक दिन अपने घर में से भी एक एक कमरा इनको देना होगा. और वहां पर भी नहीं रुकेंगे बेहें और बेटियो को इनके साथ ब्याहने के लिए भी कल सरकार इनके लिए आरक्षित कर दे तो आश्चर्ये मत करना.
आज बाबा रामदेव पर कालक पोत कर जो साहस आया है उस से उर्जा लेकर आगे क्या क्या करेंगे यह तो उसकी बानगी भर है. अभी तो आरक्षण कुछ एक प्रदेशो में मिला है जब यह होंसला है, जब सारे देश में मिल जायेगा तब जलवा क्या होगा. जरा सोच लो ट्रेलर यह है तो अंजाम क्या होगा. स्वयम जिन्ना जी ने कहा था की एक टाइप राईटर और एक सेक्रेटरी के दम पर मेने पकिस्तान इन हिन्दुओ से लेलिया. अब सोचो यहाँ तो तो कल को अफसरों और सी इ ओ की फ़ौज खड़ी होने वाली है.
 
एक प्रशन मेरा कांग्रेस अध्यक्षा आदरनिये श्री मति सोनिया गाँधी जी से है की हम हिन्दू यदि हिन्दुस्तान से उजड़ गए तो कहाँ जायेंगे. यह प्रशन इसलिए मोंजू है की ६५ साल पहले इसी आधुनिक भारत के इतहास में इनको दो देश दिए थे. क्या गारेंटी है की इतिहास नहीं दोहराया जायेगा? यदि कोई गारेंटी लेता है तो बताये नहीं तो 500 रूपये के नोट पर छपा महात्मा गाँधी भी बोलता रह गया की मेरी लाश पर पाकिस्तान बनेगा और उन्ही गाँधी जी की जिन्दा छाती पर एक नहीं दो - दो पाकिस्तान बने. किस ने किया उखाड़ लिया.
भाई मैंने ५००० वर्ष पुरानी संस्कृति को बचाने के लिए यह लिखा है पता नहीं यू एन वाले १२०५ टाइगर ही बचाते रहेंगे या अजायबघर में सजने जा रही इस कौम के लिए भी कोई केम्पेन चलाएंगे.
जय  भारत जय भारती
.

3 comments:

  1. हिन्दुओं को अपने अंदर व्याप्त कमियों को देखना ही पडेगा अन्यथा ??

    ReplyDelete
  2. जागो और इस्लामिक आतंकवाद का प्रतिकार करो वरना वे दिन दूर नहीं जब आप कशमीर की तरह सारे भारत से उजाड़ दिए जाओगे

    ReplyDelete